चंडीगढ़, 4 फरवरी – हरियाणा पुलिस के फ्रंटलाइन योद्धाओं के लिए कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम की आज पुलिस मुख्यालय, पंचकूला में शुरूआत हुई। पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) हरियाणा, श्री मनोज यादव ने पहल करते हुए इस अभियान में हिस्सा लेकर पहला टीका लगवाया।
कोविड महामारी के खिलाफ सुरक्षा के लिए टीका लगवाने वाले अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी शामिल रहे।
अभियान के पहले दिन सबसे पहले डीजीपी हरियाणा श्री मनोज यादव ने टीका लगवाकर पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों को हौसला बढाया। इसके बाद, डीजीपी राज्य सतर्कता ब्यूरो, श्री पी के अग्रवाल, डीजीपी क्राइम मोहम्मद अकील, एडीजीपी प्रशासन और आईटी श्री ए. एस. चावला, एडीजीपी सतर्कता श्री अजय सिंघल, आईजीपी डॉ एम रवि किरण और आईजीपी श्री राजिंदर कुमार, सीपी पंचकूला श्री सौरभ सिंह सहित अन्य पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों ने टीका लगवाया।
इस अवसर पर बोलते हुए डीजीपी ने कहा कि जब कोविड महामारी अपने चरम पर थी, तब पूरी पुलिस फोर्स ने निरंतर अग्रिम पंक्ति में रहकर लगातार कार्य किया। प्रदेश में कानून और व्यवस्था बनाए रखने के अलावा, हमारे प्रत्येक अधिकारी और जवान ने निडर होकर गरीब और जरूरतमंद व्यक्तियों को भोजन, प्रवासी श्रमिकों और मजदूरों की सुरक्षित घर वापसी और बुजुर्गों की देखभाल करना सुनिश्चित किया। लॉकडाउन में पुलिस का मानवीय चेहरा सामने आया तथा पुलिस के प्रयासों को राष्ट्रीय स्तर पर भी पहचान मिली।
उन्होंने कहा कि कोरोना के चलते अब तक लगभग 3000 राज्य पुलिस कर्मचारी संक्रमित हो चुके हैं, जिनमें से फ्रंटलाइन पर काम कर रहे 14 पुलिस कर्मियों को कोविड-19 के कारण अपनी जान गंवानी पड़ी।

भ्रम न रखें, वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित
उन्होंने कहा कि इस कोरोना से जंग जीतने के लिए देश में 40 लाख से अधिक व्यक्तियों को पहले ही यह इंजेक्शन दिया जा चुका है और यह पूरी तरह से सुरक्षित है। डीजीपी ने समस्त पुलिस बल के साथ-साथ आम जनता से अपील करते हुए कहा कि वे इस महामारी के खिलाफ टीकाकरण अभियान में आगे आएं और आने वाले दिनों में टीका अवश्य लगवाएं। साथ ही अन्य को भी जागरूक करें ताकि किसी के मन में टीकाकरण को लेकर भ्रम की स्थिति न रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *