उपायुक्त प्रदीप कुमार के दिशा निर्देशानुसार में जिला रैडक्रॉस सोसायटी द्वारा नशा मुक्त भारत अभियान के तहत जिला में नशामुक्ति सैमीनारों का आयोजन किया जा रहा है। इसी कड़ी में सोसायटी द्वारा खंड रानियां के गांव धनूर के ग्राम सचिवालय में नशामुक्ति सैमीनार का आयोजन किया गया। सैमीनार में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय धनूर के प्राचार्य राम अवतार शर्मा ने के बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की। इस अवसर पर गांव धनूर की सरपंच बिमला देवी सहित गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।
                सैमीनार में बोलते हुए प्राचार्य राम अवतार शर्मा ने कहा कि बुजुर्गों व अभिभावकों को अपने बच्चों पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। विशेषकर युवा पीढी को नशे की लत से दूर रहकर अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए खेलों की ओर बढऩा चाहिए तथा आगे बढ़कर नशा न करने बारे जागरूक करना चाहिए। नशे से अनेक प्रकार की सामाजिक बुराईयां पनपती हैं। नशा समाज के लिए अभिशाप है।
                इस सैमीनार में भाग लेने वालों को नशा न करने की शपथ दिलाई गई। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में राजकीय माध्यमिक विद्यालय रामनगरिया के मुख्याध्यापक मदन वर्मा ने उपस्थितजनों को नशा क्या है, नशे के प्रकार, नशे की बीमारी से मुक्ति, नशे के बारे में पैदा हुई गलत धारणाओं व नशा प्रयोग करने वाले व्यक्ति के मुख्य लक्ष्णों आदि की जानकारी विस्तृत रूप में देकर नशा न करने बारे जागरूक किया गया। कार्यक्रम में जिला रैडक्रॉस सोसायटी सिरसा की ओर से उपस्थित महिलाओं को तुलसी के पौधे, गमले सहित देकर पर्यावरण स्वच्छ रखने का संदेश दिया गया व नशामुक्ति से संबंधित सहायक सामग्री वितरित की गई। कार्यक्रम संयोजक व रैडक्रॉस के सहायक पवन कुमार ने कोरोना महामारी से बचाव की जानकारी देते हुए उपस्थितजनों को मास्क व साबुन वितरित किए।
                इस अवसर पर सरपंच प्रतिनिधि देसराज, मास्टर जोहरी लाल, चन्ना राम पंच, प्रेम चंद पंच, रिम्पू रानी पंच, ग्रवित वालंटियर नितिन धनूर, राज कुमार, वीरभान, संदीप कुमार व शहीद भगत सिंह युवा कल्ब धनूर के सदस्य मदन वर्मा, तिलक राज, सीमा रानी, निर्मला, रेणू बाला, इन्दू रानी, पारी बाई, कैलाश रानी सहित ग्रामवासी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *